धनंजय बनाम प्रशासन की तरफ़ बढ़ता मल्हनी उपचुनाव!?

0
405
Spread the love | Share it

जौनपुर/मल्हनी- जैसे जैसे मल्हनी के उपचुनाव की तारीख़ नज़दीक आ रही है वैसे-वैसे सभी प्रत्याशी एड़ी-चोटी एक किये हुए है और ज़्यादा से ज़्यादा मतदाताओं तक पहुँच रहे हैं।


आज मल्हनी के कूद्दपुर गाँव के पास पुलिस ने तांडव किया और धनंजय सिंह के समर्थकों की लगभग 8 से 10 मोटर साइकिलों को सीज़ कर दिया गया।पूर्व सांसद से पूछने पर उन्होंने बताया की ये प्रशासन की ज़्यादती है जो ऐसा कृत्य कर रही है और इसका जवाब मल्हनी की जनता देगी।

अभी कल इसी गाँव में भाजपा की रैली थी जिसमें ज़िले भर के भाजपा पदाधिकारी और बाहर से भी आए हुए भाजपा के कार्यकर्ता अपनी गाड़ियों पर भाजपा प्रत्याशी का स्टिकर लगाये हुए थे।लेकिन वहाँ एक भी गाड़ी को प्रशासन ने छुआ तक नहीं।

वहीं प्रशासन का कहना है की नियम सबके लिये एक बराबर है और जो भी ग़लत पाया जायेगा उसके ख़िलाफ़ विधिक कार्यवाही होगी वो चाहे जो भी हो।

वहीं निर्दल प्रत्याशी धनंजय सिंह के समर्थकों का कहना है की उनकी गाड़ियों पर पुलिस द्वारा स्टिकर लगा कर सील किया जा रहा है और जानबूझकर उनको परेशान किया जा रहा है यहाँ तक की 151 में चालान तक किया जा रहा है।

वही दूसरी तरफ़ भाजपा समर्थकों की गाड़ियाँ फ़र्राटे से भाजपा प्रत्याशी का स्टिकर लगा कर दौड़ रही हैं क्यूँकि प्रशासन द्वारा उनको पूरी छूट मिली हुई है।

अगर ऊपर से किसी एक प्रत्याशी के ख़िलाफ़ कार्यवाही के आदेश हैं तो कही भाजपा प्रशासनिक दबाव तो नहीं बनवा रही क्यूँकि अभी हाल ही में भाजपा प्रत्याशी द्वारा पैसा बाँटने का फ़ोटो वायरल हुआ था उस पर भी चुनाव आयोग आँखे मुँदे हुए है।

पिछले चुनाव में भाजपा चौथे स्थान पर थी जबकि प्रत्याशी मल्हनी से ही था इसके उलट निर्दल प्रत्याशी धनंजय सिंह दूसरे नंबर पर थे। अब भाजपा इस उपचुनाव में अपनी पूरी ताक़त झोंके हुए है लेकिन बयार देख कर लगता नहीं है की इस बार भी भाजपा का कुछ होने वाला है क्यूँकि लोगों का कहना है की प्रत्याशी ही बाहर का है तो इनसे मिलने कब कहा जाएँगे? वही पूर्व सांसद धनंजय सिंह की लगातार जनता के बीच उनकी उपथिति उनकी ओर लोगों का रुझान बढ़ाए हुए हैं।

कहीं इन सबसे घबराकर जानबूझकर निर्दल प्रत्याशी को परेशान तो नहीं किया जा रहा है?

वजह जो भी हो अब तो 10 नवंबर को ही पता चलेगा की कौन कितने पानी में है।क्यूँकि लोग पिछले आँकड़ों को सामने रखकर देख रहे हैं और आँकड़ा यह कहता है की धनंजय सिंह को पचास हज़ार वोट तो मिलते ही रहे हैं।लोगों का कहना है की भाजपा तो लड़ाई में है ही नहीं क्यूँकि पिछली बार भाजपा लहर में इनके प्रत्याशी चौथे स्थान पर थे तो इस बार तो और भी मुश्किल है।


Spread the love | Share it

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here