संवेदनशील जिला मऊ किसके सहारे

0
87
Spread the love | Share it

केंद्र और राज्य दोनों जगह पर भाजपा सरकार होने के बावजूद मुख्तार अंसारी को पंजाब से उत्तरप्रदेश नहीं लाया जा पा रहा है,मुख़्तार पंजाब से सिस्टम चला रहा है,बताया जा रहा है कि उसने सरकार की नाक की नीचे खेल करके मऊ के कप्तान को हटवा दिया जो कि मुख़्तार के ख़िलाफ़ ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रहे थे।

सूत्र बताते हैं कि,मुख्तार अंसारी का ज्यादा से ज्यादा जोर है ,कि उसके लोग भाजपा में एडजस्ट हों और भाजपाइयों के सम्पर्क में रहें,इसी सिस्टम से मऊ के कप्तान जो तगड़ी कार्यवाही कर रहे थे,वो हटवाए गये ,मुख्तार अंसारी के खिलाफ कार्यवाही का शोर तो बहुत है लेकिन बग़ल के ज़िले जौनपुर में एक सफ़ेदपोश ठाकुर साहब जो शहर के ठीक ठाक व्यापारी है।सर्वविदित है की ये मुख़्तार अंसारी के जौनपुर आने पर बिना मुख़्तार की चरण वंदना किये इनको आगे नहीं जाने देते थे और आज भी मुख़्तार के क़रीबी विधायक और पूर्व विधायकों के लगातार सम्पर्क में रहते हैं ऐसे गुर्गों का इलाज कब तक होगा।

ये आज कल भाजपा के नज़दीकी हैं क्यूँकि इनके घर में भाजपा के उच्च पदासीन लोग हैं।

कभी बसपा से विधानसभा टिकट के लिये ज़ोर लगा कर थक गये थे,लेकिन आज भाजपा के कंधे पर बंदूक़ रखकर शहर की बेशक़ीमती ज़मीन अतिक्रमण कर रहे हैं और लोगों को पुराना मुख़्तार अंसारी का ख़ौफ़ दिखाना भी नहीं भूलते साथ ही चोरी छिपे मुख़्तार की सहायता करना भी नहीं भूलते! ये शहर में चर्चा का विषय है,लेकिन बोले कौन?क्यूँकि ये तुरंत गोली मारने की ही बात करते हैं।

हर ज़िले में फैले इन जैसे भाई साहब जो मुख़्तार का ख़ौफ़ दिखाते फिरते हैं जो कहीं भाजपा नेता तो कहीं व्यापारी तो कहीं पत्रकार का तमग़ा लिये घूम रहे हैं।

उम्मीद है की जल्दी ही सरकार की नज़रें इन लोगों पर भी इनायत होंगी।


Spread the love | Share it

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here