पूर्व विधायक ने नगर विकास मंत्री पर लगाए गम्भीर आरोप

0
2418
Spread the love | Share it

  • पूर्व विधायक रारी राजदेव सिंह ने पूर्व सांसद के ऊपर लगे फ़र्ज़ी मुक़दमे की मुख्यमंत्री से निस्पक्ष जाँच की माँग।

जौनपुर पूर्व विधायक राजदेव सिंह ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ से पूर्व सांसद धनंजय सिंह के ऊपर लगे फर्जी मुकदमे की निष्पक्ष जांच की मांग की है जिसके लिए उन्होंने पत्र लिखकर अवगत कराया है जो निम्नलिखित है।
महोदय , सादर अवगत कराना है कि आवेदक जनपद जौनपुर के रारी विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2009 के उपचुनाव में विधायक निर्वाचित हुआ था । इसके पूर्व 1945 – 1946 से ही राष्ट्रीय सेवक संघ में कार्य करता रहा है । आवेदक का पुत्र धनंजय सिंह वर्ष 2002 में जनपद जौनपुर के रारी विधानसभा से निर्दल विधायक चुना गया । वर्ष 2007 के चुनाव में भी स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में विजयी हुआ व वर्ष 2009 में जौनपुर से लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुआ था । धनंजय सिंह के अन्दर अनुवांशिकीय राष्ट्रीय सेवक की भावना रही इसी लिए जनता के हित के लिए रेलवे ओवर ब्रिज , नदियों पर जगह – जगह पुल व सड़के , बिजली व अस्पताल निर्माण के कार्यों पर जोर देकर गुण्वत्तापूर्ण कार्य कराये गये । जनपद के अधिकारियों से जनहित के कार्यों को शीघ्रतापूर्ण गुणवत्तायुक्त ढंग से कराने के लिए सदैव दबाव बनाया जाता रहा है । जिससे जनपद के अन्य राजनेताओं को ईर्ष्याद्वेष सदैव होता रहा है । धनंजय सिंह के ऊपर सपा बसपा के शासन काल में झूठे फर्जी मुकदमें कायम कराये गये जो न्यायालय द्वारा भी निर्दोष पाकर दोषमुक्त कर दिया ।
धनंजय सिंह पूर्व विधायक व पूर्व सांसद होने के नाते जनपद में व अन्यत्र शासन के धन से कराये जा रहे कार्यों की गुणवत्ता के विषय में अधिकारियों से लगातार वार्ता करते रहे तथा शासन की मंशानुसार कार्य कराने के लिए समय – समय पर सुझाव दिये जाते हैं । वर्तमान समय में महामारी कोविड – 19 से बचाव व गरीबों में राष्ट्रीय सेवक संघ के साथ अपने समर्थकों से खाद्यान्न , भोजन व अन्य जरूरी सामान वितरित कराया गया ।
जनपद जौनपुर में सीवर ट्रीटमेन्ट प्लान्ट के तहत मानक के विपरीत गुण्वत्ता विहीन घटिया स्तर पर कार्य कराये जाने की शिकायत जनपद वासियों ने धनंजय सिंह को दिया ।तब धनंजय ने संबंधित अधिकारियों से वार्ता किये तथा कार्यदायी संस्था के प्रबन्धक से भी गुणवत्तापूर्ण कार्य कराये जाने के लिए कहा तथा यह भी चेतावनी दिया कि यदि गुणवत्तायुक्त कार्य नहीं कराओगे तो शिकायत माननीय मुख्यमंत्री जी से कर दी जायेगी । इसी बात को जनपद के नगर विकास मंत्री श्री गिरीश चंद्र यादव से भी की गई । तो उन्होंने सत्ता की हनक दिखाकर पुलिस अधीक्षक जौनपुर को साजिश में लेकर घटिया व मानक विहीन कार्य कराये जाने वाली एजेन्सी के प्रबन्धक अभिनव सिंघल से फर्जी मुकदमा अपराध संख्या 142 / 2020 धारा 364 , 388 , 504 , 506 भादवि का 10 . 05 . 2020 को रात्रि में दर्ज कराकर रात्रि में ही बिना सूचना दिये अनावश्यक रूप से गिरफ्तार कराया गया । उन्होंने सत्ता कराये जान 386 , 50 श्री गिरीश चंद यादव राज्य मंत्री के चहेते ठेकेदारों को ठेका न मिलने के कारण जौनपुर के पॉलिटेक्निक मैदान में वर्ष 2013 – 14 में स्वीकृत ऑडीटोरियम का ठेका कई बार निरस्त कराकर ऑडिटोरियम का कार्य स्थल की जमीन से निर्माण ही निरस्त करा दिया गया है ।
जिले में सभी सरकारी कार्यों को अपने सत्ता के बल पर अपने चहेते विशेष लोगों से गुणवत्ता विहीन कार्य करा कर धन को अवैध लाभ प्राप्त कर रहे हैं तथा अवैध रूप से राज्य मंत्री कई जगह मकान व जमीन व सरकारी जमीन हड़प रहे हैं जिससे शासन व भाजपा के चरित्र पर ऑच आने लगी है । उपरोक्त के संबंध में निष्पक्ष जाँच कराकर धनंजय के ऊपर लगाये गये उपरोक्त फर्जी मुकदमें धारा 364 / 386 / 504 / 506 को समाप्त कराया जाए तथा राज्य मंत्री श्री गिरीश चंद्र यादव द्वारा कराये जा रहे घटिया कार्यों व शासन के धन के दुरूपयोग की भी जाँच आवश्यक है।
अतः माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है कि : – 1 . मुकदमा अपराध संख्या 142 / 2020 धारा 364 , 386 , 504 , 506 भादवि थाना लाइन बाजार जौनपुर की जाँच किसी अन्य एजेन्सी से कराने का आदेश पारित कराने की कृपा करें । 2 . श्री गिरीश चंद्र यादव मंत्री द्वारा जनपद में कराये जा रहे मानक विहीन कार्यों व शासन के धन गबन व दुरूपयोग की उच्च स्तरीय जाँच कराने की कृपा करें ।
संलग्नकः – झूठे एवं फर्जी दर्ज कराये गये मुकदमों की सूची ।

आवेदक
राजदेव सिंह
पूर्व विधायक रारी (जौनपुर)

Spread the love | Share it

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here